गूगल की तख्ती

    किसी साइबर कैफे से हिन्दी में पोस्ट करने की नौबत आ जाए , जहां हिन्दी में लिखने की सुविधा ना हो | तब आप क्या उपाय करते हैं ? पूरी पोस्ट न लिखनी हो , सिर्फ टीपना हो | ब्लोगर    वाले चिट्ठेकार सीधे देवनागरी में लिखते होंगे | ऐसा न होने पर , निश्चित ही आप किसी ‘तख्ती’ किस्म की सुविधा का इस्तेमाल करते होंगे | मैं अंकित जैन की तख्ती का प्रयोग करता हूं | रोमन में लिखी टिप्पणियों को देख कर थोड़ी सी कोफ्त जरूर होती है अथवा लिखने वाले की मजबूरी का ख्याल आ जाता है |

    आज पता चला की गूगल की भी तख्ती उपलब्ध है | बाराहा की भांति गूगल ने भी कुछ अन्य भारतीय भाषाओं में भी यह सुविधा मुहैय्या कराई है | इस तख्ती का प्रयोग करने के उपरांत आप इसे छाप भी सकते हैं (  प्रिंट आउट भी हासिल कर सकते हैं ) | नेट पर हिन्दी के बढ़ रहे प्रयोग की वजह से गूगल को यह सुविधा देनी पडी , मुझे लगता है | आप को कैसी लगी यह तख्ती ?

यह पोस्ट उक्त  साधन   के प्रयोग से लिखी गयी है |

Advertisements

11 टिप्पणियाँ

Filed under blogging, hindi

11 responses to “गूगल की तख्ती

  1. गूगल का यह जूगाड़ तो बहुत पूराना है. इसे किसी साइट से भी जोड़ सकते है.

    एक सुविधा यहाँ भी रखी हुई है. बहुत सी भारतीय भाषाओं में लिखा जा सकता है..

    http://www.tarakash.com/likho

  2. रमण कौल का ऑनलाइन जुगाड़ भी सब जगह चलता है, आनस्क्रीन कुंजीपट है और उसमें शुषा, कृतिदेव, इनस्क्रिप्ट (मैं यही प्रयोग करता हूं, अतः मेरे लिए यह औजार बहुत ही मुफीद है), रोमन इत्यादि से भी हिन्दी लिख सकते हैं. वैसे, अब तो दर्जनों अन्य जुगाड़ भी हो गए हैं, और ओपेरा ब्राउजर के जरिए तो विंडोज ९५ में भी यूनिकोड हिन्दी में इन्हीं साइटों के जरिए लिखा जा सकता है.

  3. maine wordpress ke liye ek plugin bhi likha hai jiske dwara aapke blog pe seedhe hindi me tippani ho sakti hai. http://wordpress.org/extend/plugins/indicomment/

  4. मुझे तो ऐसे में http://www.hindikalam.com अधिक पसंद आता है। समस्या यह है कि जितने अधिक औजारों का उपयोग करो उतनी ही अधिक उलझन होने लगती है। मैं सामान्य रूप से एक तख्ती नामक software का उपयोग करती हूँ। जब भी किसी और तकनीक का उपयोग करती हूँ तो गड़बड़ाने लगती हूँ। कुछ वैसे ही जैसे किसी अन्य के चकले बेलन पर रोटियाँ बेलने पर!
    घुघूती बासूती

  5. ambrish kumar

    hindikalam abhi istemaal kiya kafi rochak hai.dhanaivaad

  6. कभी प्रयोग न किया है देखता हूँ ।

  7. पता नही हम तो बस गूगल ही use करते है ।

  8. मैं हिंदी सीधे इनस्क्रिप्ट की बोर्ड से टाइप करता हूँ, गूगल के इस ‘टूल से लिखनेमें दुगना समय लगा है।
    मैं सोचता हूँ कि हर ब्लागर को इनस्क्रिप्ट टाइपिंग सीख लेनी चाहिए। उस में पन्द्रह दिन ट्यूटर पर अभ्यास चाहिए। जीवन भर का दुखड़ा मिट जाता है और गतिअंग्रेजी से भी अच्छी आती है।

  9. संगीता पुरी

    अच्‍छी जानकारी दी है … धन्‍यवाद।

  10. पिंगबैक: इस चिट्ठे की टोप पोस्ट्स ( गत चार वर्षों में ) « शैशव

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s